क्या योगी का 31 दिसंबर तक 50 हजार लोगों को घर दिलाने का वादा पूरा होगा?

0
287 views

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी में फ्लैट खरीददारों को बीच नई उम्मीद जगी थी। फ्लैट खरीददारों ने मुख्यमंत्री योगी से गुहार लगाई कि बिल्डरों को काबू में करें और फ्लैट दिलवाने में मदद करें। योगी ने भी सख्ती दिखाते हुए एक जीओएम बना दी। कई राउंड मीटिंग के बाद 31 दिसंबर, 2017 तक 50 हजार फ्लैट पूरी तरह से तैयार करवा कर लोगों को सौंपने का टारगेट दिया गया। टारगेट नहीं पूरा करने वाले बिल्डरों से सख्ती से निपटने की चेतावनी भी दी गई।

फ्लैट दिलाने के लिए योगी सरकार ने क्या किया?

योगी सरकार ने तीन मंत्रियों का एक ग्रुप बनाया। मंत्रियों के समूह ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ मीटिंग की। बिल्डरों और बायर्स को आमने-सामने बैठा कर बात की। दोनों पक्षों की समस्याओं को मंत्री समूह ने सुनी। अधिकारियों से उन प्रोजेक्ट्स की रिपोर्ट मांगी गई, जो करीब-करीब तैयार थे।

मंत्री समूह ने कुछ ऐसा सुझाव रखे, जिससे बिल्डर और ग्राहक दोनों को फायदा हो। ऐसे में अनुमान लगाया गया कि दिसंबर तक 50 हजार फ्लैट तैयार कर लोगों को सौंपे जा सकते हैं। बिल्डरों से भी युद्धस्तर पर काम पूरा करने के लिए कह दिया गया।

अथॉरिटी ने क्या राहत दी?

अथॉरिटी ने बिल्डरों से एक बार में बकाया चुकाने की जगह किस्तों में रकम चुकाने की छूट दी। यहां तक की बकाया चुकाने पर छूट की स्कीम भी निकाली गयी। कंप्लीशन सर्टिफिकेट जारी करने के लिए भी नियमों में छूट देने का फैसला लिया गया। अथॉरिटी ने बिल्डरों को पूरे प्रोजेक्ट की जगह तैयार टावर का कंप्लीशन सर्टिफिकेट जारी करने का फैसला किया।

अब तक बिल्डरों ने क्या किया?

ग्रेटर नोएडा में 37 बिल्डर प्रॉजेक्ट्स ने सीसी यानी कंप्लीशन सर्टिफिकेट के लिए अर्जी लगाई है। अथॉरिटी सूत्रों के मुताबिक, अगर सभी बिल्डरों को सीसी जारी हो जाता है तो ग्रेटर नोएडा में 24108 फ्लैट खरीदारों को पजेशन मिल जाएगा। लेकिन, बड़ा सच ये भी है कि बहुत से बिल्डरों ने कुछ जरुरी कागजात जमा नहीं कराए हैं।

अथॉरिटी अधिकारियों और बिल्डरों की अहम मीटिंग में 12 प्रॉजेक्ट्स के लिए बिल्डरों की ओर से दो-चार दिनों में सीसी के लिए सभी जरूरी कागजात जमा कराने का भरोसा दिया गया है। अगर ऐसा होता है तो 13 हजार बायर्स को पजेशन मिल जाएगा।

नोएडा अथॉरिटी में दिसंबर तक 12 हजार फ्लैट का पजेशन देने का दावा किया जा रहा है। वहीं, यमुना अथॉरिटी में 5376 फ्लैट का पजेशन देने का दावा किया जा रहा है।

कितनों को मिलेगा घर?

अगर सब कुछ योगी सरकार की प्लानिंग के हिसाब से हुआ तो 31 दिसंबर तक करीब 30 हजार लोगों के घर का सपना पूरा हो सकेगा। यूपी सरकार के मंत्री समूह की अगली बैठक 4 दिसंबर को होनी है। माना जा रहा है कि इसी बैठक में ऐलान होगा कि कितने लोगों को नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी एरिया में फ्लैट मिलेगा?

वादाखिलाफी करनेवालों पर कार्रवाई होगी?

यूपी सरकार का मंत्री समूह हर पक्ष पर गंभीरता से विचार कर रहा है। सवाल उठ रहा है कि जिन बिल्डरों ने वादाखिलाफी की उनके खिलाफ योगी सरकार क्या एक्शन लेगी? जानकारों के मुताबिक, योगी सरकार टॉरगेट पूरा नहीं करनेवाले बिल्डरों को डांट लगाकर जल्द टारगेट पूरा करने के लिए एक और डेडलाइन तय कर देगी। लेकिन, किसी बिल्डर को जेल या जुर्माना होने के चांस बहुत कम हैं।

 

 

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/F5rJs