सैलरी डे पर बैंकों के बाहर और लंबी हुई लाइन, ATM अभी भी खाली…कैसे मिलेगा कैश?

0
336 views

सैलरी डे पर सुबह-सुबह ही तैयार हो कर अपने सभी बैंक खातों की चैक बुक लेकर प्रताप घर से निकल गए। बैंकों के बाहर लाइन इतनी लंबी थी कि दोपहर के 2-3 बजे से पहले कैश का दर्शन होना बहुत मुश्किल था। मतलब, ऑफिस छूटना तय था। इस बात की भी कोई गारंटी नहीं कि उनकी पारी आते-आते बैंक में कैश बचा ही रहे। सैलरी डे पर प्रताप जैसा ही हाल देश के करोड़ों नौकरीपेशा लोगों का है। सरकार का दावा है कि सैलरी डे के लिए खास इंतजाम किए गए हैं।




सैलरी डे के लिए सरकार की तैयारियां

marriageनोटबंदी के बाद पहला सैलरी डे आ गया है। देश में ज्यादातर लोगों को तनख्वाह 1 तारीख से 7 तारीख के बीच मिलती है। मतलब, हफ्ते भर बैंकों के बाहर लंबी लाइन लगना तय है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने पहले से ही सैलरी डे के लिए खास तैयारियां की हैं-

  • बैंकों ने पिछले 4-5 दिनों से कैश बांटने में कटौती की, जिससे सैलरी डे पर लोगों की कैश जरुरतों को आराम से पूरा किया जा सके
  • बैंकों ने उन इलाकों की खास तौर से पहचान की, जहां कैश की निकासी ज्यादा होती है। ज्यादा निकासी वाले इलाकों में ज्यादा कैश की सप्लाई का इंतजाम किया गया है
  • कारोबारी इलाकों में ज्यादा कैश भेजने के लिए खास प्लान तैयार किया गया है। सरकार ने सैलरी डे पर लोगों की कैश जरुरतों को पूरा करने के लिए 500 रुपये के नए नोटों का स्टॉक बचा कर रखा है। उसे अब बैंकों में भेजा जा रहा है।
  • बैंकों ने सैलरी खाताधारकों के लिए खास इंतजाम किए हैं। पेंशनर्स के लिए अलग से काउंटर बनाए गए हैं। जिससे लोगों को ज्यादा देर तक लाइन में नहीं लगना पड़े।

ATM के कैशलेस होने पर उसमें तुरंत कैश भरने के लिए खास इंतजाम किया गया है।




सैलरी डे पर ATM कैशलेस क्यों?

देशभर में करीब 2 लाख 18 हजार ATM मशीनें हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, करीब 1 लाख 70 हजार ATM मशीनें 2000 और 500 रुपये के नए नोट के हिसाब से अपडेट हो चुकी हैं। लेकिन, ATM मशीनों में कैश भरने का काम उस रफ्तार से नहीं हो रहा है, जिससे लोगों की जरुरतें पूरी हो सकें।

महीने की 28 से 5 तारीख के बीच ATM  मशीनों से सामान्य दिनों के मुकाबले दो गुना नोट निकाले जाते हैं। ATM में अगर 2000,500 और 100 रुपये के नोट भरे जाएंगे तो करीब 44 लाख रुपये एक बार में भरे जा सकते हैं।

अगर ATM से हर आदमी मौजूदा तय सीमा के हिसाब से ढाई-ढाई हजार रुपये निकाल लेता है तो करीब 1750 से अधिक लोगों की कुछ कैश जरुरतें पूरी हो सकती हैं। अगर,  अपडेट किए गए सभी ATM को नोटों से भर दिया जाए देश के करीब 30 करोड़ लोगों की कैश जरुरतें पूरी हो सकती हैं। लेकिन, देश के ज्यादातर ATM में नोटों का सूखा है।

एक बार में नहीं मिलेगी पूरी सैलरी

अगर आपकी सैलरी खाते में ट्रांसफर होती है और 24 हजार से कम है तो एक बार में ही पूरी तनख्वाह निकाल सकते हैं। लेकिन, मोटी तनख्वाह वाले हफ्ते में 24 हजार से अधिक नहीं निकाल पाएंगे। ऐसे में प्रधानमंत्री लोगों को ट्वीट कर मोबाइल से कैशलेस लेनदेन के बारे में बता रहे हैं। देश के नौजवानों से लोगों को मोबाइल को ई-बटुए की तरह इस्तेमाल करने का तरीखा बताने की अपील कर रहे हैं।




 

 

 

 

 

 

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/qrcS2