पाकिस्तान में सबसे बड़ी बगावत…लोगों ने किया टैक्स नहीं देने का ऐलान!

0
309 views

पाकिस्तान ने धोखे से जिस गिलगित-बाल्टिस्तान पर कभी कब्जा किया, जिसे अपना पांचवां राज्य घोषित करने की तैयारी कर रहा है। वहां के लोगों ने अब पाकिस्तान के खिलाफ ऐलान-ए-जंग कर दिया है। गिलगिट-बाल्टिस्तान के लोगों ने इस्लामाबाद में बैठे हुक्मरानों से साफ-साफ कह दिया है कि वो टैक्स में अब फूटी कौड़ी भी नहीं देंगे। विरोध में लोगों ने अपना काम बंद कर दिया है और छोटी-बड़ी दुकानों पर ताला लटका हुआ है।

गिलगिट-बाल्टिस्तान में बगावत क्यों?

फौज के दम पर पाकिस्तान इस इलाके में रहनेवाले लोगों की आवाज दबाता रहा है। गिलगिट-बाल्टिस्तान में सरकार लोगों से बहुत ज्यादा टैक्स वसूलती है। लोगों का कहना है कि दूध बेचने से लेकर सब्जी की खरीद-बिक्री पर भी सरकारी कर्मचारी जबरन टैक्स वसूलते हैं। इस इलाके में बंदूक की नोक पर टैक्स वसूली का लोग अब खुलकर विरोध कर रहे हैं और एक-दूसरे से टैक्स नहीं देने की अपील कर रहे हैं।

टैक्स क्यों नहीं देना चाहते लोग?

गिटलिट-बाल्टिस्तान के लोगों का आरोप है कि उन्हें पाकिस्तानी हुकूमत की ओर से बुनियादी अधिकार भी नहीं मिले हैं, इस इलाके से वसूले गए टैक्स का एक रुपया भी लोगों की भलाई या क्षेत्र के विकास पर खर्च नहीं होता है। यहां के लोगों का कहना है कि इस्लाम के मुताबिक बिना अधिकारों के टैक्स नहीं लिया जा सकता।

गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों की दलील है कि जब पाकिस्तानी हुकूमत से उन्हें कोई अधिकार नहीं मिला है, तो फिर टैक्स क्यों दें? वहां के लोगों का कहना है कि जब पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने इस इलाके को विवादित माना है तो फिर इस्लामाबाद को यहां से टैक्स वसूलने का कोई अधिकार नहीं है।

गिलगिट-बाल्टिस्तान में पाकिस्तान का धोखा

गिलगिट-बाल्टिस्तान एक जमाने में जम्मू-कश्मीर रियासत का हिस्सा हुआ करता था। 1935 में जम्मू-कश्मीर के महाराजा ने इस इलाके को 60 साल के लिए अंग्रेजों को लीज पर दिया। दिल्ली से इस इलाके पर हुकूमत चलने लगी।

अंग्रेजों के लिए ये इलाका सामरिक रूप से बहुत अहम था। लेकिन, आजादी से पहले 1 अगस्त, 1947 को अंग्रेजों ने यहां की लीज महाराजा हरि सिंह को वापस कर दी। इसके बाद वहां तैनात अंग्रेज अफसरों ने एक ऐसी साजिश रची, जिससे नवंबर 1947 में इस इलाके पर पाकिस्तान का कब्जा हो गया।

1949 तक गिलगिट-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का हिस्सा माना जाता रहा। लेकिन, पाकिस्तानी हुक्मरानों ने एक और बड़ी साजिश रची और इस इलाके को पीओके से अलग कर दिया।

 

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/YAUQe