इस तस्वीर के पीछे की पूरी कहानी…नजीब के साथ हुआ क्या है?

0
436 views
ये तस्वीर दिल्ली के इंडियागेट की है। जेएनयू से लापता छात्र नजीब अहमद की मां फातिमा इंडिया गेट पर धरना देने को उतारू है और दिल्ली पुलिस उन्हें बड़ी बेरहमी से खींच कर ले जा रही है। दिल्ली पुलिस का दावा है कि उसने पहले ही आगाह कर दिया था कि इलाके में धारा 144 है और प्रदर्शन की इजाजत नहीं है, इसके बावजूद जेएनयू के छात्र वहां पहुंचे और उन्हें वहां से हटाना पड़ा। फातिमा का बेटा नजीब कैसे गायब हुआ? ये कोई राजनीतिक साजिश है या आपसी रंजिश? क्या जानबूझकर दिल्ली पुलिस इस मामले को दबा रही है? इस सब पर बहस और चर्चा करने से पहले पूरी घटना का#SachJano
najeeb-1 




·         14 अक्टूबर- आरोप है कि इस रात को करीब 11.30 बजे नजीब अहमद की विक्रांत कुमार, अंकित कुमार और सुनील प्रताप नाम के जेएनयू के छात्रों के साथ मारपीट हुई। इन तीनों का ताल्लुक एबीवीपी से बताया जाता है। झगड़ा जेएनयू के माही- मांडवी हॉस्टल के कमरा नम्बर 106 में हुआ । वारदात से सिर्फ 20 दिन पहले नजीब को ये कमरा मिला था।
 
·         15 अक्टूबर- नजीब अहमद लापता हो गया। एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक उसे ऑटो पर जाते हुए देखा गया। लेकिन खास बात ये है कि उसका सारा सामान, जिसमें कि मोबाइल फोन भी शामिल है, उसके कमरे में ही था।




 
·         16 अक्टूबर- मामला पुलिस के पास पहुंचा और पुलिस ने उसकी जानकारी देने वाले के लिए 50 हजार के इनाम की घोषणा कर दी।
 
·         17 अक्टूबर- जेएनयू छात्र संघ की तरफ से प्रदर्शन हुआ जिसमें पुलिस औऱ विश्व विद्यालय प्रशासन से नजीब को फौरन ढूंढने की मांग की गयी। इस बीच खबरें ये भी आईं कि नजीब जेएनयू में ही कहीं छिपा है।
             najib-2 
·         18 अक्टूबर- करीब 700 छात्रों ने जेएनयू से वसंत कुंज थाने तक मार्च किया। नजीब के साथ मारपीट करने वाले छात्रों पर एफआईआर दर्ज कराई गयी।
 
·         19 अक्टूबर- जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीस कुमार और कुछ अन्य अधिकारियों को छात्रों ने बंधक बना दिया। 24 घंटे तक 13 बंधक बने रहे।
 
·         31 अक्टूबर- नजीब की मां फातिमा दिल्ली के मुक्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिली। केजरीवाल ने फातिमा को पूरी मदद का भरोसा दिया।
 
·         3 नवंबर- कई पार्टियों के नेता जेएनयू पहुंचे। इनमें अरविंद केजरीवाल, शशि थरूर, दिग्विजय सिंह, मणिशंकर अय्यर और प्रकाश करात शामिल थे। इन सभी ने नजीब की तलाश को लेकर चल रहे आंदोलन का समर्थन किया। इस मौके पर केजरीवाल ने छात्रों का आह्वाहन किया कि अब इस आंदोलन को इंडिया गेट ले जाया जाए।
 
·         6 नवंबर- केजरीवाल राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलने गए। राष्ट्रपति ने भरोसा दिलाया कि गृहमंत्रालय इस मामले में पूरी मुस्तैदी दिखाएगा। इसी दिन इंडिया  गेट पर जबरदस्त प्रदर्शन हुआ जिसमें फातिमा को हिरासत में ले लिया गया। राजनीतिक बवाल के बीच उन्हें पुलिस उनकी रिहायश पर छोड़ कर आई।







The short URL of the present article is: http://sachjano.com/ii5d2