GST के नाम पर लूटने वालों की खैर नहीं…सरकार करेगी मुनाफाखोरों का इलाज

0
182 views

GST लागू होने के बाद से ही सरकार के पास लगातार शिकायतें पहुंच रही थीं कि ज्यादातर कारोबारी GST के नाम पर लोगों से तय कीमत से अधिक वसूल रहे हैं। सरकार के पास हर सेक्टर से शिकायत पहुंच रही थी। ऐसे में सरकार ने एक नेशनल एंटी प्रोफेटिंग अथॉरिटी यानी NAA का गठन कर दिया है। ये अथॉरिटी GST में कम किए गए टैक्‍स का फायदा ग्राहकों को नहीं देने वाले कारोबारियों पर कार्रवाई करेगी।

मुनाफाखोरों के खिलाफ NAA में होगी शिकायत?

अगर किसी ग्राहक को लगता है कि किसी चीज या सर्विस के बदले उससे ज्यादा GST वसूली गयी है तो वो NNA की स्क्रीनिंग कमेटी के सामने शिकायत कर सकता है।

ग्राहक को शिकायत उसी राज्य में करनी होगी, जहां से वस्तु खरीदी या सेवा ली गयी है। लेकिन, कई राज्यों से जुड़े मसले पर शिकायत सीधे स्क्रीनिंग कमेटी से की जा सकती है।

कैसे काम करेगा NAA?

शुरूआती जांच में शिकायत सही पाए जाने के बाद आगे की जांच के लिए डीजी सेफगार्ड के पास भेजा जाएगा। डीजी सेफगार्ड अपनी ओर से पूरे मामले की जांच करेंगे और अपनी रिपोर्ट NAA के पास भेजेंगे। इसके बाद NAA शिकायत पर कार्रवाई करेगा।

NAA में कौन-कौन होगा शामिल?

नेशनल एंटी प्रोफेटिंग अथॉरिटी में पांच सदस्य होंगे। इसके अध्यक्ष होंगे कैबिनेट सेक्रेटरी पी के सिन्हा। इसके सदस्यों में हसमुख अढिया को भी शामिल किया गया है। यह अथॉरिटी फिलहाल दो साल के लिए बनाई गई है, उसके बाद ये खत्म मान ली जाएगी।

मुनाफाखोरों के खिलाफ क्या कार्रवाई होगी ?

कारोबारी की ओर से ग्राहक से जीएसटी के नाम पर वसूले गए ज्यादा पैसे को वापस करवाया जाएगा । इतना ही नहीं, मुनाफाखोरी करने वाले कारोबारियों का जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कैंसिल किया जा सकता है।

 

 

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/Zd2IM