किसानों को मालामाल बनाने के लिए मोदी सरकार का स्पेशल प्लान…

0
259 views

मोदी सरकार अच्छी तरह जानती है कि देश में किसानों की हालत अच्छी नहीं है। नाराज किसानों का वोट भी गुजरात में बीजेपी को उम्मीद के मुताबिक नहीं मिला। ऐसे में अब मोदी सरकार किसानों को खुश करने के लिए बजट में कई बड़े ऐलान कर सकती है। क्योंकि, 2019 से पहले किसानों को खुश करने का बड़ा आखिरी मौका बजट ही है। सूत्रों के मुताबिक, बजट में किसानों को बहुत कुछ देने के प्लान पर गुना-भाग कर रही है।

किसानों को मिलेगा ज्यादा कर्ज!

बजट में सरकार शॉर्ट  टर्म लोन की रकम को बढ़ाकर 3 लाख से 5 लाख कर सकती है। इससे किसानों को खेती के लिए बैंकों से ज्यादा लोन मिल सकेगा। किसानों को मिलने वाले लॉग टर्म लोन पर भी 4 फीसदी सब्सिडी देने का ऐलान कर सकती है। अब तक सिर्फ शॉर्ट टर्म लोन पर ही किसानों को सब्सिडी मिलती है। लॉग टर्म लोन पर कोई सब्सिडी नहीं मिलती है।

फसल की सही कीमत देने का मैकेनिज्म

किसानों की सबसे बड़ी समस्या ये है कि उनको फसल की सही कीमत नहीं मिल पाती। किसानों को लागत मूल्य से भी कम पर अपनी फसल बेचने पर मजबूर होना पड़ता है। सरकार की ओर से तय न्यूनतम समर्थन मूल्य भी किसानों को नसीब नहीं होता।

बजट में एक बड़े मैकेनिज्म के ऐलान की उम्मीद की जा रही है, जिससे किसानों को उनकी फसल की सही कीमत दिलवाई जा सके। साथ ही सरकार फसल बीमा का पूरा फायदा किसानों को दिलाने के लिए भी कुछ बड़े ऐलान कर सकती है।

किसानों की आमदनी दोगुनी करने का प्लान !

सरकार पहले ही ऐलान कर चुकी है कि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी की जाएगी। इसके लिए फरवरी में पेश होनेवाले बजट में सिंचाई के लिए हाईटेक मैकेनिज्म बनाने पर खास जोर रहने की उम्मीद है। इजराइल की तर्ज पर पानी की हर बूंद का बेहतर इस्तेमाल करने की तकनीक को बढ़ावा देने की तैयारी है।

किसानों को राहत देने और उनकी फल-सब्जियों की सही कीमत दिलवाने के लिए सरकार का जोर ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा कोल्ड स्टोरेज बनवाने पर होने की उम्मीद है। सरकार बजट में कोल्ड स्टोरेज बनाने में बड़ी आर्थिक मदद या सब्सिडी देने का ऐलान कर सकती है।

खेती में इस्तेमाल होनेवाले ट्रैक्टर की खरीद में भी सरकार स्पेशल सब्सिडी का ऐलान कर सकती है। इतना ही नहीं कृषि कार्य में इस्तेमाल होनेवाली चीजों से जीएसटी कम करने के प्लान पर भी सरकार मंथन कर रही है, जिससे किसानों की लागत कम हो और मुनाफा ज्यादा।

मोदी सरकार की कोशिश है कि 2019 से पहले किसानों को खुश कर दिया जाए। किसानों ने बड़ी उम्मीद के साथ 2014 में बीजेपी को प्रचंड बहुमत से चुनाव में जीत दिलवाई। लेकिन, मोदी के पीएम बनने के साढ़े तीन साल बाद भी किसानों के अच्छे दिन नहीं आए हैं।

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/DwJDB