चीनी मशीन बता सकती है दिल्ली में इतनी धुंध क्यों हुई ?

0
506 views

दिल्ली और आसपास के इलाकों में हम प्रदूषण का स्तर तो जांच सकते हैं लेकिन ये पता नहीं चल पाता कि ये प्रदूषण हुआ किस वजह से है। इसीलिए हमारी सरकारें प्रदूषण से निजात पाने के लिए हवा में तीर चलाती रहती हैं, कभी #OddEven लागू हो जाता है, कभी कंस्ट्रक्शन का काम रोका जाता है तो कभी खुले में आग जलाने पर सज़ा मिलती है। लेकिन अब चीन ने एक ऐसे सिस्टम तैयार कर लिया है जो प्रदूषण की भविष्यवाणी के साथ साथ ये भी बता सकता है कि प्रदूषण का सोर्स क्या है?



क्या है प्रदूषण को पकड़ने वाली चीनी मशीन ?

चीन में 12 सितंबर को प्रदूषण को पकड़ने वाले NARS नाम के सिस्टम को लॉन्च किया गया। इसे चीन की सेना ने तैयार किया है। केमिकल डिफेंस एंड इंजीनियरिंग इन्स्टीट्यूट का तरफ से तैयार किए गए इस सिस्टम का काम ये बताना है कि धुंध फैलने की असली वजह क्या है। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) का दावा है कि NARS के जरिये प्रदूषण की बिल्कुल सटीक जानकारी मिल सकती है। ये सिस्टम न्यूक्लियर और बायोकेमिकल खतरों से भी आगाह कर सकता है।

china-2



ऐसे काम करता है NARS

  • सबसे पहले ये सिस्टम किसी भी इलाके की आबो-हवा में मौजूद हर तत्व की जानकारी जुटाता है। कुछ ही मिनटों में हवा में मौजूद सभी पार्टिकल्स का आंकड़ा तैयार हो जाता है।
  • इसके बाद ये अनुमान लगाया जाता है कि किस प्रदूषणकारी तत्व का धुंध में कितना योगदान है।
  • ये सिस्टम हवा में घुले तमाम प्रदूषणकारी तत्वों को अलग अलग कर के आंक सकता है।
  • इस सिस्टम से एक से तीन किलोमीटर के इलाके का आंकलन एक बार में किया जा सकता है।





2012 से चल रहा है काम

चीन 2012 से प्रदूषण मापने का काम रहा है। इसमें चीनी सेना भी बड़ा योगदान दे रही है। चार साल की कोशिशों के बाद इस बार प्रदूषण का सही पता लगाने वाला सिस्टम तैयार किया गया है। पिछले साल सितंबर के महीने में जब चीनी सेना अपनी 70वी सालगिरह मना रही थी तब बीजिंग औऱ इसके आस पास के 6 राज्यों की लाखों छोटी बड़ी फैक्ट्रियां बंद कर दी गयी थी। इसका नतीजा ये रहा है परेड के वक्त बीजिंग का आसमान बिल्कुल नीला था।

china4

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/oXROK