क्यों तरसा रहे हैं ATM…क्या सरकार इन हालात के लिए तैयार नहीं थी ? एटीएम का पूरा सच जानो..

1
439 views

देश के हर शहर कस्बे में एटीएम के बाहर वैसी ही भीड़ है जैसी कभी रात को 9 बजे बाद पीसीओ के बाहर होती थी। क्या ये भीड़ जल्दी ही कम हो जाएगी? मौजूदा हालात औऱ इंतजाम को देखकर लगता है कि अभी इसे सामान्य में होने में थोड़ा वक्त लग सकता है। ऐसा क्यों हुआ ये जानने के लिए पहले एटीएम का मौजूदा सिस्टम समझिए।

अभी तक कैसे काम कर रहे थे एटीएम?

देश का हर एटीएम अभी तक तीन तरह की करेंसी से वाकिफ था। 100, 500 औऱ 1000 के नोट। ज्यादातर एटीएम में दिन में एक बार ही पैसा डाला जा रहा था। ज्यादा से ज्यादा लोगों को पैसा मिल जाए इसके लिए एटीएम में 1000 और 500 के लिए ज्यादा जगह बनाई गयी थी और 100 के नोट के लिए जगह कम थी। लेकिन बदले हुए हालात में ये सिस्टम काम नहीं कर पा रहा है।




पांच सौ का नया नोट अब भी गायब है

देश के ATMs औऱ बैंकों में अभी तक 500 का नोट नहीं पहुंचा है। ये नोट सभी ग्राहकों के लिए सबसे फायदेमंद था। लेकिन अभी पैसा निकालने वाली मशीनों में सिर्फ 2000 और 100 के नोट ही उपलब्ध हैं। और इसमें भी सबसे पेचीदा बात ये है कि ज्यादातर मशीने 2000 के नोट के लिए तैयार ही नहीं हो पाई है। इसलिए कई एटीएम तो अभी तक ऐसे हैं कि जहां 100 के नोट ही उपलब्ध हैं। 100 के नोट फौरन खत्म हो जाते हैं। और जब तक नए नोट एटीएम तक पहुंचते हैं वहां अफरातपरी मच जाती है।

atm-2

दो दिन एटीएम मशीनों में क्या हुआ?

500 औऱ 1000 के नोटों को बंद करने के ऐलान के बाद दो दिन के लिए एटीएम मशीनों को बंद रखा गया । इस दौरान पहला बड़ा काम ये हुआ कि हर मशीन से पुरानी करेंसी हटाई गयी। हर मशीन से 1000 और 500 के पुराने नोट हटाना एक बड़ा काम था। लेकिन इस काम के एटीएम मशीनों की देखरेख करने वाली कंपनियों के पास कोई नई मैनपॉवर नहीं थी। पुराने ही लोग थे और उनका संख्या भी नहीं बढ़ पाई। इसके अलावा एटीएम मशीनों को 2000 को नोटों के लिए भी तैयार करना था लेकिन ये काम कई जगह रह गया। आरबीआई ने कहा था कि  एटीएम से 50 के नोट भी नकलेंगे लेकिन मशीनें इसके लिए तैयार नहीं हो पाईं।





एक मशीन सिर्फ 100 लोगों के लिए?

एक एटीएम में अगर 100, 500 औ ऱ 1000 के नोट रखने का इंतजाम है तो उसमें 15 से 20 लाख तक रुपए आ सकते हैं। लेकिन मौजूदा हालात में ज्यादातर एटीएम मशीनें सिर्फ 100 औऱ 500 के नोट रखने में सक्षम हैं। और 500 के नोट अभी तक आए नहीं हैं। इसलिए अभी एक मशीन की एक बार की कैपेसिटि सर्फ 2 लाख रुपए की है। अगर एक आदमी 2000 रुपए निकालता है तो एक मशीन सिर्फ 100 लोगों को ही पैसा दे सकती है इसके बाद इसे फिर रिफिल करना पड़ेगा। फिर रिफिल करने के लिए कैश वैन्स और स्टाफ चाहिए चाहिए जो कि सीमित संख्या में हैं। ऐसे में मुश्किल तो होगी ही।




The short URL of the present article is: http://sachjano.com/lJwMG