अब अमेरिका में जुबानी जंग से राष्ट्रपति का फैसला, हिलेरी-ट्रंप में सीधी टक्कर

0
319 views

अमेरिका में अब राष्ट्रपति चुनाव के लिए हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ट ट्रंप के बीच डिबेट का दौर शुरू हो गया है। 36 साल बाद ये पहला मौका है, जब पूरी दुनिया की नजर अमेरिकी प्रेसिडेंशियल डिबेट पर है। आइलैंड की हॉफ्स्ट्रा यूनिवर्सिटी में हुई इस डिबेट में हिलेरी ने ट्रंप की तुनकमिजाजी को लेकर हमला किया। उन्होंने कहा कि जो आदमी एक ट्वीट से भड़क जाता है, उसके हाथ में न्यूक्लियर बटन नहीं होना चाहिए। बहस के दौरान एक-दूसरे पर व्यक्तिगत हमले भी जमकर हुए ।

कैसे संभलेगी अमेरिकी अर्थव्यव्था?

हिलेरी ने कहा कि टंप अर्थव्यस्था के बारे में कुछ भी नहीं जानते। उन्होंने तो खुद अपने पिता से कर्ज लेकर कारोबार शुरू किया। डेमोक्रेट एक ऐसी अर्थव्यवस्था बनना चाहते हैं, जिसमें हर अमेरिकी का विकास हो। जवाब में ट्रंप ने कहा कि उन्होंने ने पिता से लिए छोटे लोन से आज बिलियन डॉलर का कारोबार खड़ा कर लिया है ।

कैसे खत्म होगी बेरोजगारी?                

हिलेरी ने कहा कि उनकी कोशिश होगी कि अमीरों से ज्यादा टैक्स लिया जाए और वो महिलाओं को सही सैलरी दिलाने के लिए लड़ाई लडेंगी। जवाब में ट्रंप ने कहा कि मेक्सिको समेत दूनिया के कई देश हमसे नौकरियां चुराकर ले जाते हैं। जॉब्स चोरी को रोकना है। ट्रम्प ने ये भी साफ किया कि वो ज्यादा नहीं कम टैक्स लगाएंगे, जिससे नए कारोबार बढ़ेंगे। नई नौकरियां पैदा होंगी ।

ईमेल लीक कांड की गूंज

जब हिलेरी से ईमेल लीक कांड पर सवाल दागा गया तो उन्होंने अपनी गलती मान ली। वहीं, जब ट्रंप से उनके टैक्स रिटर्न के बारे में पूछा गया तो उन्होंने साफ-साफ कहा कि वो अपने टैक्स रिटर्न का खुलासा करने को तैयार है। लेकिन, हिलेरी डिलीट किए गए 33 हजार ईमेल के डिटेल दें।

कैसे सुधरेगी कानून-व्यवस्था?

हिलेरी ने कहा कि अमेरिकी पुलिस और लोगों के विश्वास की डोर को मजबूत करना होना । गन कानून में भी सुधार करने की जरुरत है। वहीं, ट्रंप की साफ राय है कि क्राइम कंट्रोल करने के लिए पुलिस के हाथ पूरी तरह से खोलने होंगे। अभी कोई भी एक्शन लेने से पुलिस डरती है।

डेमोक्रेट और रिपब्लिकन उम्मीदवार 3 बार सीधी बहस करते हैं । दोनों राष्ट्रपति उम्मीदवार बड़े-बड़े मुद्दों पर अपनी नीतियां लोगों के सामने रखते हैं, जिसके आधार पर लोग अमेरिका के अगले राष्ट्रपति के बारे में अपनी राय बनाते हैं ।

The short URL of the present article is: http://sachjano.com/h9bRd